जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग में आतंकी हमले में 6 पुलिसकर्मी शहीद

0
1292
-- Advertisements --

अनंतनाग में आतंकियों द्वारा घात लगाकर किये गये हमले में एक उपनिरीक्षक सहित छह पुलिसकर्मी शहीद हो गए. आतंकियों ने ये बड़ा हमला दक्षिण कश्मीर के अनंतनाग जिले के अच्छाबल में किया. जब पुलिसकर्मी अपनी ड्यूटी से वापस शाम सात बजे सुमो में लौट रहे थे तब घात लगाकर बैठे आतंकियों ने पुलिस पेट्रोल टीम पर हमला बोला और अंधाधुंध फायरिंग कर 6 पुलिसकर्मियों की हत्या कर दी. पुलिसकर्मियों की हत्या करने के बाद आतंकी उनके हथियार भी लेकर चले गए. मरने वालों में अच्छाबल के एसएचओ फिरोज अहमद डार भी शामिल थे. डार के अलावा मरने वालो में कांस्टेबल शारीक अहमद, तस्वीर अहमद, शराज अहमद, मोहम्मद आसिफ, सब्जार अहमद भी शामिल हैं.

लश्कर ने हमले की जिम्मेदारी ली…

खबरों के मुताबिक कहा यह जा रहा है कि यह हमला लश्कर के आतंकियों ने अपने कुलगाम के डिस्ट्रिक कमांडर जुनैद मट्टू की मौत का बदला लेने के लिए किया था. लश्कर के इस आतंकी को सुरक्षाबलों ने कुलगाम के अरवानी में ही ढेर कर दिया है.

लश्कर ने कश्मीर में एक स्थानीय न्यूज एजेंसी को बयान जारी इस हमले की जिम्मेदारी ली है. बताया जाता है कि इस हमले में लश्कर के करीब 15 आतंकी शामिल थे जिन्होंने इसे अंजाम दिया है. आपको बता दें कि जम्मू-कश्मीर में पुलिस को आतंकी लगातार निशाना बना रहे हैं. गुरुवार को भी आतंकियों ने पुलिस पर दो अलग-अलग जगहों पर हमले किए थे जिसमें पुलिस के दो जवान शहीद हो गए थे.

पुलिस महानिदेशक एसपी वैद के मुताबिक़ शहीद थाना प्रभारी की पहचान उपनिरीक्षक फिरोज के रूप में हुई है जो आतंकवादियों की अंधाधुंध गोलीबारी की चपेट में आ गए. वह पुलवामा के रहने वाले थे. उन्होंने कहा कि अन्य शहीदों में एक चालक और चार अन्य पुलिसकर्मी शामिल हैं जो अपनी जीप में नियमित ड्यूटी पर थे. उन्होंने कहा कि उसने अरवनी मुठभेड़ का बदला लेने के लिए यह हमला कराया होगा जिसमें उसके स्थानीय कमांडर जुनैद मट्टू के मारे जाने की बात कही जा रही है. बिजबेहड़ा के अरवनी में मुठभेड़ आज सुबह शुरू हुई और इसमें सभी तीन आतंवादियों के मारे जाने की बात कही जा रही है. अभी तक कोई शव बरामद नहीं हुआ है. अधिकारियों ने कहा कि सेना क्षेत्र की तलाशी ले रही है.

बता दें कि जम्मू-कश्मीर में पुलिस को आतंकी लगातार निशाना बना रहे हैं. गुरुवार को भी आतंकियों ने पुलिस पर दो अलग-अलग जगहों पर हमले किए थे जिसमें दो जवान शहीद हो गए थे.

-- Advertisements --