मिट्टी घोटाला: बेटे तेजप्रताप के बचाव में आये लालू

0
346

पटना: राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव ने बेटे तेजप्रताप पर लग रहे मिट्टी घोटाले के आरोपों का जवाब देने के लिए अपने आप को तैयार कर लिया है ! उन्होंने रविवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि उनके परिवार को बदनाम करने के लिए इस तरह के आरोप लगाए जा रहे हैं। सुशील मोदी पर तीखा हमला करते हुए लालू ने कहा, ‘घोटाला-घोटाला वो लोग करते हैं, जो खुद घोटालेबाज हैं। उद्यान को मिट्टी नहीं बेची गई।’ इससे पहले लालू ने ट्वीट करते हुए उनके बेटे पर चर्च की जमीन कब्जा कर सुपरमार्केट बनाने का आरोप लगाया। लालू यादव के इस ट्वीट में एक वेबसाइट का लिंक भी दिया है, जिसमें एक बीजेपी नेता के बेटे पर चर्च की जमीन पर सुपरमार्केट बनवाने का आरोप है।

आपको बताते चलें कि राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेजप्रताप पर अपने परिवार के मालिकाना हक वाले मॉल की मिट्टी को सरकारी विभाग को बिना टेंडर के ही बेचने का आरोप है। बीजेपी नेता सुशील मोदी ने पिछले दिनों आरोप लगाया था कि मॉल की मिट्टी संजय गांधी जैविक उद्यान में बिना टेंडर के ही डाली गई है और 90 लाख रुपये की कमाई की गई है।
सुशील मोदी के मुताबिक संजय गांधी जैविक उद्यान पर्यावरण एवं वन विभाग के अंतर्गत आता है, जिसके मंत्री लालू प्रसाद के बेटे तेज प्रताप हैं। मोदी ने आरोप लगाया था कि मॉल की मिट्टी को बिकवाने के लिए सौंदर्यीकरण के नाम पर अनावश्यक रूप से 90 लाख रुपए का अनुमान पगडंडी बनाने के नाम पर किया गया। बीजेपी नेता ने आरोप लगाया कि लालू का परिवार अपने मॉल की मिट्टी को अपने ही विभाग को बेचकर 90 लाख रुपये की कमाई कर चुका है।

भाजपा की ओर से तेजप्रताप पर मिट्टी घोटाले के आरोप लगाए जाने के बाद नीतीश कुमार ने जांच के आदेश भी दे दिए हैं। बिहार के मुख्य सचिव अंजनी कुमार सिंह ने इस मामले में जांच के आदेश जारी किए हैं। राजनीतिक जानकार इस घटना को अहम बता रहे हैं। आशंका जताई जा रही है कि नीतीश सरकार के इस कदम से राजद और जद (यु ) के बीच कड़वाहट बढ़ सकती है।