लालू एंड फैमिली पर CBI केस, 12 जगहों पर छापेमारी, नीतीश ने बुलाई बैठक

0
932

राजद सुप्रीमों एवं पूर्व रेल मंत्री लालू प्रसाद यादव के घर पर सीबीआई की टीम शुक्रवार सुबह पटना पहुंची. सीबीआई ने 2006 में रेलमंत्री रहे लालू प्रसाद यादव, पत्नी राबड़ी देवी, उनके बेटों के साथ अन्य लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है. समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, इन सभी लोगों पर रांची और पुरी में रेलमंत्रालय द्वारा संचालित चाणक्‍य बीएनआर होटल के लिए जारी टेंडर में धांधली का आरोप है. उस दौरान 2006 मेें लालू यादव रेल मंत्री थे. इधर, बिहार के मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार ने भी इस मामले में राजगीर में उच्‍च अधिकारियों की बैैठक बुलाई है.

सीबीआई इस सिलसिले में दिल्ली, पटना, रांची, पुरी और गुरुग्राम के 12 ठिकानों पर आज छापेमारी कर रही है. इसी सिलसिले में राजद नेता प्रेम चंद गुप्ता के ठिकानों पर भी छापेमारी चल रही है. खबरों के मुताबिक, IRCTC के होटल देशभर के तमाम बड़े शहरों व स्टेशनों के पास बनाए गए हैं. इन होटलों के रखरखाव के लिए जारी टेंडर में सीबीआई ने गड़बड़ी पाई और इस मामले में आज पूर्व रेल मंत्री लालू प्रसाद यादव और उनके परिवार के दूसरों सदस्यों के खिलाफ मामला दर्ज किया. इस मामले में आज 12 से ज्यादा जगहों पर सीबीआई छापेमारी कर रही है. इसमें पटना स्थित लालू यादव का अपना आवास भी शामिल है.

क्‍या है मामला…
दरअसल ये मामला 2006 का है. उस वक्त रेल मंत्री लालू प्रसाद यादव थे. सीबीआई को लगता है कि लालू ने रेलवे के होटलों की चेन बीएनआर होटल ग्रुप के रखरखाव का ठेका यानी टेंडर नियमों की अनदेखी करते हुए प्राइवेट कंपनियों को दिया था और इसकी एवज़ में उन्हें ज़मीन दी गई थी. इस आरोप के मद्देनज़र शुक्रवार को 12 अलग-अलग जगहों पर सीबीआई तलाशी कर रही है. निजी कंपनी ने टेंडर के बदले लालू को फ़ायदा दिया. कंपनी ने टेंडर के बदले लालू को बड़ी ज़मीन दी. उस जमीन पर पटना में मॉल का निर्माण किया गया.

छापेमारी पर प्रतिक्रिया
RJD स्पोक्सपर्सन, प्रगति ने कहा- ”हमें मालूम था कि बीजेपी हम पर सीबीआई-इनकम टैक्स का डंडा चलाएगी। हम इससे डरने वाले नहीं है। ये सिद्धांतों पर चलने वाली पार्टी है।”
RJD नेता मनोज झा ने कहा- ”आज लोकतंत्र का एक काला दिन है। हम इससे डरने वाले नहीं हैं। हम कानूनी और राजनीतिक तरीके से लड़ेंगे। ये विपक्ष को साधने के अलावा कुछ नहीं है।”
BJP सांसद, गिरिराज सिंह ने कहा- ”कौन-सी सच्चाई और कौन-सा बदला। क्या चारा घोटाले का सच आप सब भूल गए। नीतीश कुमार पहले कह रहे थे कि बीजेपी केवल प्रेस कॉन्फ्रेंस करेगी या कुछ सच सामने आएगा। अब कानून अपना काम कर रहा है। आपके डिप्टी सीएम पर अब एफआईआर हुई है। नीतीश कुमार को अब चुप्पी तोड़नी होगी।”

इस मामले में आरजेडी नेता शिवानंद तिवारी ने कहा, ‘ये लालू जी पर होना ही था. पार्टी के स्थापना दिवस पर लालू जी ने कहा था कि अगर जेल चला गया तो क्या होगा. सीबीआई और आयकर विभाग का इसी ढंग से इस्तेमाल हो रहा है. इससे लालू यादव ख़त्म नहीं होंगे, इससे लालू यादव और मजबूत होंगे.’

कारोबारी को रेलवे के होटल दिए, बदले में 200 करोड़ की जमीन ली
बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री एवं भाजपा नेता सुशील मोदी ने दावा किया था, ”रेल मंत्री रहते हुए लालू ने झारखंड के रांची और ओडिशा के पुरी में रेलवे के दो होटल गलत तरीके से कारोबारी हर्ष कोचर को दिए थे। बदले में पटना में 200 करोड़ रुपए कीमत की 2 एकड़ से ज्यादा जमीन बेनामी तरीके से डिलाइट मार्केटिंग प्राइवेट लिमिटेड के नाम करवा ली। तब इस कंपनी का मालिकाना हक आरजेडी सांसद प्रेम चंद्र गुप्ता के पास था।”

आरोप यह भी है कि पटना में लालू प्रसाद यादव ने मॉल बनाने में पर्यावरण नियमों की अनदेखी की. इस मॉल को बनाने में पर्यावरण क्लीयरेंस नहीं लिया गया. ये बात बिहार सरकार ने पटना हाइकोर्ट में दिए गए हलफ़नामे में कही है. सरकार ने माना है कि मॉल बनाने में नियमों को ताक पर रख दिया गया. फिलहाल इस मामले में हाई कोर्ट में सुनवाई चल रही है.