नीतीश कुमार ने किया नवनिर्मित 54 थानों समेत 174 पुलिस भवनों का उद्घाटन

0
319

पटना : मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मंगलवार को बिहार पुलिस भवन निर्माण निगम द्वारा 214 करोड़ से नवनिर्मित 54 थानों समेत 174 पुलिस भवनों का उद्घाटन और 34.31 करोड़ से बनने वाले 23 पुलिस भवनों का शिलान्यास करने के बाद समारोह को संबोधित किया, उन्होंने कहा कि बिहार की पहचान कानून के राज से बनी है। इससे कोई समझौता नहीं होने देंगे।  पुलिस अपनी जिम्मेदारी निभाए। राज्य सरकार पुलिस की सभी सुविधाओं का ख्याल रख रही है, तो उनकी उपलब्धि भी दिखनी चाहिए।  मुख्यमंत्री ने वहां मौजूद पुलिस के तमाम आलाधिकारियों से साफ कहा कि सरकार का नजरिया है कि न किसी को फंसाएंगे न बचाएंगे। यही नजरिया पुलिस के अंदर भी होना चाहिए। कोई भी हो, अगर उसने कानून तोड़ा है तो कार्रवाई होगी। यही मेरी आपलोगों से अपेक्षा है, जिसे आपको पूरा करना है, सभी अपनी-अपनी भूमिका निभाएं।
मुख्यमंत्री ने कहा कि जिलों में एसपी सजग रहेंगे ती नीचे के लोग भी चुस्ती दिखाएँगे । अपराध की घटना के बाद दोषी को गिरफ्तार कर लेने से ही काम नहीं चलेगा।

पुलिस लाइन में अब रहने के बेहतर इंतजाम…
मुख्यमंत्री ने कहा कि पहले थाने किस हाल में थे, सबको मालूम है। पुलिस के पास खटारा वाहन होते थे। हथियार भी आधुनिक नहीं थे। अब बहुमंजिले थाने बन रहे हैं और पुलिस को आधुनिक हथियार मुहैया कराए गए हैं। नए-नए वाहन भी उन्हें मुहैया कराए गए हैं। पुलिस के लिए बेहतर आवास बनाए गए हैं। पुलिस लाइन में बुनियादी सुविधाएं नहीं रहती थीं। अब वहां रहने के बेहतर इंतजाम हैं। देखें
शराब माफिया पर रखें नजर…
मुख्यमंत्री ने कहा कि शराबबंदी से आम लोग खुश हैं। जो परिवार बर्बाद हो रहा था, अब वह आबाद हो रहा है। लेकिन चंद लोग है, जो कानून तोड़ने में दिलचस्पी रखते हैं। शराब के अवैध धंधे में लगे लोगों पर नजर रखें। बीच के समय में कुछ ढिलाई हो गई थी। हथियार लेकर लोग घूमना फिर शुरू कर दिए थे। आगे ऐसा नहीं हो, इसका पूरा ध्यान रखें। थोड़ी देर के लिए भी आपलोग रिलैक्स नहीं हों। उन्होंने कहा कि शराबबंदी की मॉनिटरिंग के लिए एक आईजी का पद सरकार सृजित करेगी। आईएएस-आईपीएस की कमी से परेशानी हो रही है। लेकिन जो अधिकारी हैं, उनकी जिम्मेदारी तय करें।