PM मोदी ने सर्वोच्च न्यायालय की इंटीग्रेटेड केस मैनेजमेंट सिस्टम का किया उद्घाटन

0
718

बुधबार को प्रधानमंत्री ने सर्वोच्च न्यायालय की इंटीग्रेटेड केस मैनेजमेंट सिस्टम का इनॉगरेशन किया. इसके जरिए पिटीशनर को अपने केस की ऑनलाइन इन्फॉर्मेशन मिलेगी. यह देश के उच्चतम न्यायालय में कागज रहित काम की दिशा में एक अहम कदम होगा.

PM मोदी ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस जेएस खेहर से आखिरी मलुाकात में हम लोगों ने पेंडिंग केस पर बात की. इसके साथ ही हमने इस पर भी बात किया कि इसे कैसे कम किया जा सकता है.

पीएम ने अपने भाषण के दौरान देश को एक नया मंत्र दिया. मोदी ने न्यू इंडिया के लिए IT+IT= IT का मंत्र दिया और इसका मतलब समझाते हुए मोदी ने कहा कि IT+IT= IT का मतलब इंडियन टेक्नोलाजी + इंडियन टैलेंट = इंडियन टुमारो. ये कोई पहली बार नहीं है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को कोई मंत्र दिया हो. इससे पहले भी कई बार पीएम मोदी के कई नारे फेमस हो चुके हैं, मोदी कई नई परिभाषा भी गढ़ चुके हैं.

पीएम ने क्या कहा…
-प्रधानमंत्री ने कहा, बदलाव के साथ खुद को जोड़ने से बदलाव होगा.
-उन्होंने माना अदालतों में जजों ने अपनी छुट्टियां कम की हैं.
– डिजिटल सिस्टम को लेकर कहा, यह बदलाव के लिए नया कदम है.
-उन्होंने कहा, मन से नहीं बदलाव के साथ खुद को जोड़ने से बदलाव होगा.
– पेपरलेस व्यवस्था से पर्यावरण बचेगा.
– उन्होंने कहा- ई-गवर्नेंस हर क्षेत्र के लिए जरूरी. यह आसान और असरदार है.

चीफ जस्टिस खेहर ने क्या कहा…

– इस मौके पर चीफ जस्टिस जेएस खेहर ने देशभर की 24 कोर्ट और निचली अदालतों में भी यह सिस्टम शुरू करने का प्रपोजल रखा।
– चीफ जस्टिस ने कहा कि इस सिस्टम से ट्रांसपेरेंसी बढ़ेगी, हेरफेर कम होगी और पिटीशनर को रियल टाइम में अपने केस की प्रोग्रेस जानने में मदद मिलेगी।
– चीफ जस्टिस ने यह भी बताया कि इस सिस्टम से कोर्ट की फीस, प्रोसेसिंग फीस का ऑनलाइन कैल्कुलेशन किया जा सकेगा, जिससे पिटीशनर को केस में आने वाले कुल खर्च का पता चल जाएगा। यह सिस्टम बार के लिए भी मददगार होगा और उस पर काम का बोझ नहीं बढ़ेगा।