जिस रास्ते पर मैं चल पड़ा हूं उसकी राजनीतिक कीमत मुझे चुकानी पड़ेगी – PM मोदी

0
490

नई दिल्ली: अर्थव्यवस्था के क्षेत्र में बदलावों को लेकर पीएम मोदी ने बड़ा बयान दिया है. पीएम मोदी ने कहा है कि उन्हें पता है कि जो कदम उन्होंने उठाए हैं उसकी राजनीतिक कीमत उन्हें चुकानी पड़ेगी लेकिन हम पीछे नहीं हटेंगे. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को हिन्दुस्तान टाइम्स लीडरशिप समिट के 15वें संस्करण का उद्धाटन किया। इस दौरान अपने भाषण में पीएम मोदी ने जनधन योजना की प्रशंसा करते हुए कहा कि इस योजना ने गरीबों की जिंदगी बदल दी है। अब गरीबों के पास खुद का बैंक अकाउंट है। उन्होंने बताया कि  LED अभियान से 14 हजार करोड़ रुपये की बचत हुई है। उज्जवला योजना पर पीएम मोदी ने कहा कि इससे करोड़ों महिलाओं की जिंदगी बेहतर हुई है। वहीं, स्वच्छ भारत अभियान देश में स्थिर बदलाव लेकर आया है। उन्होंने आगे कहा कि पहले की सरकार में जहां एलईडी बल्ब 300-350 का बिकता था, अब वो एक मध्यम वर्ग के परिवार के लिए तकरीबन 50 रुपए में उपलब्ध है।

बदलावों की मुझे कीमत चुकानी पड़ेगी: पीएम
दिल्ली के हयात होटल में चल रहे हिन्दुस्तान टाइम्स लीडरशिप के कार्यक्रम में प्रधानमंत्री ने कहा, ”मुझे पता है और मैं इसे भली भांति जानता हूं कि जो कदम मैं उठा रहां हूं, जिस रास्ते पर मैं चल पड़ा हूं. और देश को जिस मंजिल पर पहुंचाने का मकसद लेकर निकला हूं. इसकी कितनी बड़ी राजनीतिक कीमत मुझे चुकानी पड़ेगी इसका मुझे भलीभाति अंदाजा है.”

डिजिटल लेनदेन से थमेगा भ्रष्टाचार: पीएम नरेन्द्र मोदी
प्रधानमंत्री ने कहा, ”हम एक ऐसी व्यवस्था की तरफ बढ़ रहे हैं, जिसमें कालाधन पैदा करने के खिलाफ और व्यवस्था में कमी की वजह से भ्रष्टाचार कम करने की संभावनाओं को कम करता जा रहा है. जिस दिन पैसे से खरीद फरोख्त का डिजिटल कनेक्शन हो गया उस दिन संगठित भ्रष्टाचार काफी हद तक थम जाएगा.”

बड़े और स्थायी परिवर्तन ऐसे नहीं आते: नरेन्द्र मोदी 
पीएम ने कहा, ”बड़े और स्थाई परिवर्तन ऐसे ही नहीं आते उसके लिए पूरे सिस्टम में बदलाव करने पड़ते हैं. जब ये बदलाव होते हैं तभी देश सिर्फ तीन साल में ईज ऑफ डुइंग बिजनेस की रैकिंग में 142 से 100 पर पहुंच जाता है.”

नोटबंदी और जीएसटी पर हमलावर है विपक्ष
आपको बता दें गुजरात में चुनावी माहौल के बीच विपक्ष नोटबंदी और जीएसटी जैसे बड़े कदमों को लेकर सरकार की आलोचना कर रहा है. कांग्रेस ने जहां जीएसटी को गब्बर सिंह टैक्स और ग्रेट स्टूपिड टैक्स जैसा नाम दिया है तो नोटबंदी को आरोप लगाया कि सरकार ने देश को लाइन में खड़ा कर दिया.