गिलानी एवं उनके सहयोगी 4 हुर्रियत नेताओं के खिलाफ NIA ने दर्ज किया केस

0
435

हुर्रियत नेता सैयद अली शाह गिलानी पर पाकिस्तान से मिलने वाली फंडिंग मामले में NIA शिकंजा कसेगी एक निजी चैनल के स्टिंग में खुलासे के बाद अब हुर्रियत नेताओं पर सुरक्षा एजेंसियों की पाबंदी बढ़ गई है. . NIA ने जांच का दायरा बढ़ाते हुए , फंडिंग के मामले में अब तक कई अलगाववादी नेताओं से पूछताछ के बाद मिले इनपुट के आधार पर अब सैयद अली शाह को दिल्ली में बुलाकर पूछताछ की जाएगी.

NIA ने प्रारंभिक जांच( PE) में गिलानी समेत 4 अलागववादी नेताओं के खिलाफ मामला दर्ज किया है, जिसके बाद बहुत जल्द समन देकर एनआईए हेडक्वार्टर में गिलानी से पूछताछ होगी. सैयद अली शाह गिलानी समेत 5 लोगों के खिलाफ एनआईए ने प्रारंभिक जांच के लिए क्रॉस बार्डर फंडिंग, सरकारी संपत्ति के नुकसान, सुरक्षा बलों पर पत्थरबाजी और स्कूल सरकारी प्रतिष्ठानों के जलाने के मामले में केस दर्ज किया है.

क्या हुए थे खुलासे…
पाकिस्तान की शह पर कश्मीर घाटी में अलगाववाद को हवा देने वाले अलगाववादी नेताओं की पोल खोल कर रख दी. कार्रवाई से हुर्रियत नेता बुरी तरह बौखलाए हुए हैं. कैमरे पर हुर्रियत के कई नेताओं ने कबूल किया कि उन्हें पाकिस्तान से फंड मिलता है ताकि घाटी में अशांति का माहौल बनाए रखा जा सके. हुर्रियत नेता ने ये भी कबूला कि किस तरह इस्लामाबाद काले धन की धुलाई को भी अंजाम दे रहा है. इस तरह कैमरे पर किसी भी कश्मीरी अलगाववादी नेता ने पहली बार ये खुलासा किया. स्टिंग में हुर्रियत नेताओं के कबूलनामे से साफ हुआ कि घाटी में दिखाए जाने वाले गुस्से की स्क्रिप्ट किस तरह पाकिस्तान लिखता है. साथ ही घाटी के असली खलनायकों का काले चिट्ठे का भी खुलासा होता है.