बांग्लादेश के साथ 22 समझौते, 4.5 अरब डॉलर का कर्ज देगा भारत

0
421

नई दिल्ली: PM  नरेंद्र मोदी और बांग्लादेशी PM  शेख हसीना के  बीच बीच रक्षा, सुरक्षा और सिविल परमाणु क्षेत्र से जुड़े 22 समझौते हुए। दोनों ने संयुक्त रूप से खुलना-कोलकाता एक्सप्रेस ट्रेन को हरी झंडी दिखाकर रवाना कर दिया. नई दिल्ली से पीएम मोदी शेख हसीना के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग  के जरिए खुलना-कोलकाता एक्सप्रेस ट्रेन को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया. इस मौके पर बांग्लादेश के रेल मंत्री माजिबुल हक समेत अन्य मंत्री और अधिकारी उपस्थित थे . कार्यक्रम में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और विदेश मंत्री सुषमा स्वराज भी मौजूद थीं !.

इससे पहले दोनोें देशों के प्रतिनिधिमंडल के बीच वार्ता हुई. इसके बाद भारतीय प्रधान मंत्री मोदी ने बांग्लादेश को 4.5 अरब डॉलर के कर्ज की घोषणा की. उन्होने बांग्लादेश को सैन्य आपूर्ति के लिए अतिरिक्त 50 करोड़ डॉलर के कर्ज की भी घोषणा की. इस 4.5 अरब डॉलर के कर्ज से बांग्लादेश में परियोजना में काम किया जाएगा. इसके साथ ही पिछले कुछ सालों में भारत की ओर से बांग्लादेश को मिलने वाला कर्ज कुल आठ अरब डॉलर पहुंच गया.

दोनों देशों के बीच 22 समझौते पर हुए हस्ताक्षर
दिल्ली के हैदराबाद हाउस में भारत और बांग्लादेश के बीच प्रतिनिधिमंडल स्तर की वार्ता भी हुई. इस दौरान दोनों देशों के बीच असैन्य परमाणु समझौता, रेल संपर्क और सुरक्षा के मुद्दे पर चर्चा हुई. मोदी और हसीना की मौजूदगी में दोनों देशों के बीच 22 समझौतों पर हस्ताक्षर हुए. समझौते के बाद संयुक्त प्रेस कांफ्रेंस में पीएम मोदी ने दोनों देशों के बीच रेल सेवा शुरू होने पर बांग्लादेश की जनता को बधाई दी.

ढाका-कोलकाता बस सेवा शुरू
पीएम मोदी ने कहा कि भारत लगातार बांग्लादेश के साथ सहयोग करता रहेगा. इस दौरान उन्होंने बांग्लादेश को 4.5 अरब डॉलर के कर्ज की घोषणा की. इसके अलावा उन्होने बांग्लादेश को सैन्य आपूर्ति के लिए 50 करोड़ डॉलर के कर्ज की भी घोषणा की. मोदी ने आतंकवाद के खिलाफ जीरो टोलरेंस की नीति की भी जमकर सराहना की. पीएम ने कहा कि हमें अपने कारोबार में विविधता लाने की जरूरत है.

जुलाई से रोजाना चलेगी नई ट्रेन
पैसेंजर ट्रेन कोलकाता से खुलना तक रोजाना चलेगी, यह ट्रेन खुलना और कोलकाता के बीच चलेगी. लंबे अरसे बाद फिर से भारत और बांग्लादेश के बीच रेल सेवा शुरू हो रही है. 1965 में भारत और पाकिस्तान युद्ध के दौरान रेल सेवा बंद कर दी गई थी. यह रेल सेवा भारत, बांग्लादेश, नेपाल और भूटान को जोड़ेगी.
मोदी और हसीना ने वीडियो लिंक के जरिए इसके ट्रायल रन को हरी झंडी दिखाई। ट्रेन के इसी साल जुलाई से शुरू होने की उम्मीद है। दोनों देशों के बीच अभी कोलकाता से ढाका तक मैत्री एक्सप्रेस हफ्ते में 4 दिन चलती है।

तीस्ता जल समझौते का मोदी ने दिया भरोसा
तीस्ता जल समझौता होने की उम्मीद कम है क्योंकि , पश्चिम बंगाल की CM ममता बनर्जी इसके विरोध में हैं. ऐसे में मोदी सरकार ममता बनर्जी को शामिल किए बगैर समझौते पर आगे नहीं बढ़ेगी. लेकिन सूत्रों की मानें तो ममता बांग्लादेश की प्रधानमंत्री से मुलाकात कर सकती हैं. बांग्लादेश के लिए पानी की कमी के चलते तीस्ता का जल महत्वपूर्ण है. गर्मी के दौरान जल का प्रवाह एक हजार क्यूसेक से लेकर पांच हजार क्यूसेक से भी नीचे चला जाता है.