क्या आपके भी बच्चे स्मार्टफोन का यूज करते हैं ?

0
395

अगर आपके भी बच्चे  उपयोग करते हैं तो पढ़ लीजिये ये खबर आपके लिए उपयोगी साबित हो सकता है ….

इसमें कोई शक नहीं कि आज की वाई-फाई जनरेशन बहुत एडवांस हो गई है. लेकिन इसके उलट बहुत नुकसान भी हैं. जी हां, आप सही समझ रहे हैं हम बात कर रहे हैं बच्चो में स्मार्टफोन की लत के बारे में जो की एक गंभीर समस्या बनती जा रही है. यही कारण है कि बच्चों का भी स्मार्टफोन के आदत का इलाज किया जा रहा है.

बच्चों का होता है स्मार्टफोन की लत का इलाज..
आप बेशक सुनकर चौंक गए होंगे लेकिन ये सच है कि 13 साल और उससे अधिक उम्र तक के बच्चों का स्मार्टफोन एडिक्शन के लिए इलाज हो रहा है. न्यूयॉर्क के एक क्लीनिक पर स्मार्टफोन और वीडियो गेम की लत के कारण बच्चों का इलाज चल रहा है.

न्यूयॉर्क में इकलौता इलाज का केंद्र..
हाल ही में आई स्काई न्यूटज की एक रिपोर्ट के मुताबिक, न्यूयॉर्क सिएटल में रिस्टार्ट लाइफ सेंटर ऐसा इकलौता ट्रीटमेंट सेंटर है जहां टीन्स को डिजीटल एडिक्शन से छुटकारा दिलाया जा रहा है. सेरेनिटी माउंटेन नामक इस ट्रीटमेंट सेंटर में 13 से 18 साल तक के बच्चों का खासतौर पर इलाज किया जाता है.

इस पर क्या कहते हैं डॉक्टर..
विशेष्ज्ञों का कहना है कि एंडलेस वजुअल इफेक्स से भरपूर इस दुनिया की वजह से पर्सनल और फैमिली रिलेशंस पर बहुत इफेक्ट पड़ रहा है.

विशेषज्ञ कहते है कि जब भी बच्चों को डिजीटल डिवाइस दी जाती है तो बच्चे नैचुरल व्यॉइस और लाइट के बजाय डिजीटल वॉयस और लाइट की तरह ज्यादा अट्रैक्ट होते हैं. इस वजह से बच्चे जल्दी से सोसाइटी से मेल-जोल नहीं कर पाते.

इलाज में लग सकता है एक साल तक का वक्त…
बच्चों के डिजिटल आदतों को दूर करने के लिए तकरीबन 8 से 12 सप्ताह का समय लगता है. कई बच्चों को एक साल तक का भी समय लग जाता है