पी चिदंबरम और उनके बेटे के घर सीबीआई के छापे

0
791
-- Advertisements --

सीबीआई ने कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिदंबरम और उनके बेटे कार्ति चिंदबरम के आवास पर मंगलवार सुबह छापा मारा है। बताया जा रहा है कि यह छापेमारी INX मीडिया को दी गई मंजूरी के सिलसिले में की गई है। सोमवार को ही इस संबंध में FIR दर्ज की गई थी। मीडिया सूत्रों के मुताबिक चिदंबरम के घर समेत 14 ठिकानों पर छापे मारे गए हैं।

प्राप्त सुचना के अनुसार सीबीआई ने चिदंबरम के चेन्नै स्थित घर और पैतृक आवास कराईकुडी में भी छापा मारा है। छापे के बाद चिंदंबरम ने कहा है कि मोदी सरकार उनकी आवाज को दबाना चाहती है। उन्होंने कहा, ‘सरकार मुझे लिखने से रोकना चाहती है, जैसा कि वह अन्य विपक्ष के नेताओं, पत्रकारों, स्तंभकारों, एनजीओ, सिविल सोसायटी के साथ कर रही है। सरकार मुझे और मेरे बेटे और उसके दोस्तों को टारगेट करने के लिए सीबीआई और अन्य एजेंसियों का इस्तेमाल कर रही है।’

INX मीडिया को मंजूरी देने से संबंधित आरोपों पर चिदंबरम ने कहा कि FIPB के अनुशंसा के आधार पर हर मामले में कानून के हिसाब के कार्रवाई की जाती है, इसमें केंद्र सरकार के पांच सचिव भी शामिल होते हैं। स्थानीय कांग्रेस नेताओं ने भी छापे की कार्रवाई को राजनीति से प्रेरित बताया है।

ऐसे ट्रांसफर हुए पैसे और शेयर
सूत्रों के मुताबिक, 2008 में पीटर मुखर्जी की कंपनी आईएनएक्स मीडिया की ओर से कार्ति चिदंबरम को पैसे दिये गये थे और उनकी कंपनी एडवांटेज स्ट्रेटिजिक कंसल्टिंग और उससे जुड़ी कंपनियों को शेयर अलॉट किये गये थे. पीटर मुखर्जी की आईएनएक्स मीडिया ने कैश में यह इंस्टालमेंट दिया था जो कि कई हिस्सों में दिया गया था. इस दौरान 60 लाख शेयर लंदन की एक कंपनी आर्टेविया डिजिटल यूके लिमिटेड से कार्ति की कंपनी में ट्रांसफर किये गये थे.

जब्त हार्डडिस्क से हुआ खुलासा
इससे पहले इनकम टैक्स ने रेड के दौरान कार्ति की कंपनी की हार्डडिस्क भी सीज़ की गई थी. जिसमें पाया गया था कि कार्ति की कंपनी को पैसा आईएनएक्स मीडिया की ओर से मिला था. जिसमें FIPB के पास इसके कागज मंजूरी के लिए आए तो उस दौरान पी. चिदंबरम वित्त मंत्री थे.

यूं मिला था पैसा
22 सितंबर, 2008 को कार्ति की एडवांटेज स्ट्रेटिजिक कंसल्टिंग प्राइवेट लिमिटेड को आईएनएक्स मीडिया की ओर से 35 लाख रुपये मिले थे, इस कंपनी ने उस दौरान 220 मिलियन डॉलर के FIPB की मंजूरी के लिए आवेदन दिया था, ठीक उसी दिन INX मीडिया ने नॉर्थ स्टार सॉफ्टवेयर सॉल्यूशन को 60 लाख रुपये दिये थे.

-- Advertisements --