गायों के प्रति संवेदनशील हैं, तो उनकी सेवा करेंः नीतीश

0
473

पटना : बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भाजपा और उसके सहयोगी संगठन ‘गोरक्षक’ का उपहास उड़ाते हुए सोमवार को कहा कि गोरक्षक जो अपने आपको पशु एवं गाय के प्रति संवेदनशील कहते हैं, उनका यह पहला कर्तव्य है कि सड़क पर लावारिस रूप से घूम रहे जानवरों के लिए विशेष गोशाला बनाकर उनको उसमें रखें तथा उसकी सेवा करें।

सचिवालय में सोमवार को आयोजित लोक संवाद के बाद पत्रकारों से बातचीत के दौरान गो हत्या के संबंध में पूछे गये प्रश्न का जवाब देते हुए बिहार के मुख्यमंत्री ने कहा कि बिहार में गोहत्या वर्जित है। यह आज का कानून नहीं बहुुत पहले से बिहार में गोहत्या वर्जित है।बिहार के लोगों की मानसिकता गाय की हत्या की नहीं रही है। उन्होंने भाजपा और उसके सहयोगी संगठन गोरक्षक दल पर निशाना साधते हुए कहा कि सड़क पर लावारिस पशु घूमते रहते हैं, जिस कारण से बहुत दुर्घटनाएं घटती हैं।

नितीश ने कहा की गोरक्षकों को इन लावारिस पशुओं का पालन पोषण करना चाहिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि वे पटना में इस तरह का प्रयोग करने जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि गोहत्या के नाम पर अगर यह मानसिकता है कि मूल समस्याओं से लोगों का ध्यान हटाया जाए तो हम उसके खिलाफ है।

कश्मीर मसले पर पूछे गए एक प्रश्न के उत्तर में नीतीश ने कहा कि कश्मीर की स्थिति बहुत संवेदनशील है। केंद्र सरकार को सभी दलों को साथ लेकर कार्रवाई करने के लिए पहल करनी चाहिए। सभी दलों को कश्मीर समस्या में शामिल करना चाहिए। कश्मीर भारत का अविभाज्य अंग है। पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर भी भारत का ही हिस्सा है यही हम सभी भारतीयों की सोच है। उन्होंने कहा कि कश्मीर समस्या का समाधान केंद्र सरकार के अधिकार क्षेत्र का मामला है।