पैसे की लेने देन के लिए हुई बदमाश बबलू दूबे की हत्या

0
701
-- Advertisements --

पटना.बेतिया न्यायालय में गुरूवार की सुबह हुई बदमाश बबलू दूबे की हत्या की जिम्मेदारी कुणाल सिंह ने ली है इसकी सुचना मीडिया को स्वंय फोन कर दी। कुणाल सिंह के अनुसार नेपाल के व्यवसायी सुरेश केडिया के अपहरण में जो पैसा बबलू दुब्बे ने लिया था उसका एक रुपया भी हम लोगों को नहीं दिया गया। जबकि मिलने वाले पैसा में से 50 प्रतिशत देने की बात कही गयी थी। इससे नाराज होकर हमने अपने साथियों के साथ मिलकर बबलू दूबे की गोली मारकर हत्या कर दी।

कुणाल सिंह ने ली हत्या की जिम्मेदारी…

शनिवार को कुणाल सिंह ने बबलू दूबे की हत्या की जिम्मेदारी ले ली है। कुणाल सिंह ने साफ साफ कहा कि बबलू दूबे की हत्या हमने की है। जैसा कि कुणाल सिंह को अपराध की दुनिया में लोग बबलू दूबे के शूटर के रूप में ही जानते हैं। उसने कहा की बबलू दुब्बे हम लोगों को सुरेश केडिया अपहरण को अंजाम देने के बदले में प्राप्त राशि का 50 प्रतिशत देने का वादा किया था। लेकिन सुरेश केडिया के अपहरण के बाद रिहाई से जो पैसा मिला उसका एक रूपया हम लोगों को नहीं दिया गया। हम लोगों ने केडिया का अपहरण करने के लिए 50 से ज्यादा लड़को को इस्तेमाल किया था। पैसा मांगने पर बबलू दुब्बे जान से मारने की धमकी देता था । इस कारण ही हम लोगों ने उसकी हत्या कर दी है। पुलिस को भी इसका ये ऑडियो मिला है।

पैसे की लेने देन के लिए हुई हत्या
ये तो अब साफ हो चुका है कि बबलू दूबे की हत्या अपहरण के पैसा के लेन देने को लेकर हुई है। शुक्रवार को बेतिया पुलिस ने इस मामले में मोतिहारी जेल में बंद राहुल से पूछताछ भी की है। बबलू दूबे ने नेपाल के व्यवसायी सुरेश केडिया का अपहरण को अंजाम राहुल और कुणाल के मार्फत ही दिया था। अपहरण के बाद रिहाई में मिले पैसा के बंटवारे में बबलू दूबे आना कानि कर रहा था । सूत्रों का कहना इसको लेकर ही बबलू दूबे की हत्या की गयी है।

सुरक्षा में तैनात पुलिसकर्मी सस्पेंड
तिरहुत प्रमंडल के डीआईजी सुनील कुमार ने इस मामले को गंभीरता से लेते हुए बबलू दूबे की सुरक्षा में तैनात एक पुलिस अफसर समेत चारों पुलिसकर्मी को सस्पेंड कर दिया है। एसपी बेतिया विनय कुमार ने बताया कि जल्द ही सारे आरोपी पुलिस के गिरफ़्त में होंगे

-- Advertisements --