जहानाबाद जिले के तीनों विधान सभा क्षेत्रो में 28 अक्टूबर को मतदान, 10 नवंबर को चुनाव परिणाम….

0
581

 1-8 अक्टूबर तक होगा नामांकन, नामांकन में उम्मीदवार 2 वाहन  कर सकेंगे प्रयोग

जहानाबाद:. जिले में कोरोना काल मे चुनाव की घोषणा होते ही आदर्श आचार संहिता लागू हो गया है. जिले में 28 अक्टूबर को मतदान होगा. जबकि 10 नवंबर को चुनाव परिणाम आएगा. चुनाव आयोग द्वारा बिहार विधानसभा चुनाव तीन चरणों में कराने की घोषणा की है. जहानाबाद जिले के विधानसभा सीटों पर प्रथम चरण में ही मतदान होगा. इसके लिए 1 अक्टूबर को अधिसूचना जारी होगी. अधिसूचना जारी होने के साथ ही नामांकन की प्रक्रिया आरंभ हो जाएगी. 8 अक्टूबर तक नामांकन पत्र जमा किये जाएंगे. आयोग द्वारा इस बार अभ्यर्थियों को यह छूट दी गयी है कि वे ऑनलाइन भी नामांकन कर सकते हैं. हालांकि उसकी हार्डकॉपी आरओ को जमा करना होगा. 9 अक्टूबर को नामांकन पत्रों की स्क्रूटनी होगी. जबकि 12 अक्टूबर तक नाम वापस लिया जा सकता है. आयोग द्वारा कोरोना संक्रमण को देखते हुए इस बार मतदान के समय में एक घंटे की वृद्धि की गयी है. मतदान सुबह 7 बजे से शाम 6 बजे तक होगा. कोरोना संक्रमित मरीज सबसे अंत में वोट डालेंगे. चुनाव की घोषणा के साथ ही आयोग द्वारा यह भी स्पष्ट कर दिया गया है कि इस बार चुनाव प्रचार सिर्फ वर्चुअल होगा. प्रत्याशी पांच से अधिक लोगों के साथ घर-घर जाकर प्रचार नहीं करेंगे. वहीं चुनावी रोड शो में भी पांच वाहनों का ही उपयोग होगा. नामांकन के लिए जाने वाले अभ्यर्थी सिर्फ दो गाड़ी का उपयोग करेंगे तथा दो लोगों के साथ ही नामांकन का पर्चा दाखिल करने जाएंगे. डीएम सह जिला निर्वाचन पदाधिकारी नवीन कुमार ने प्रेसवार्ता कर बताया कि जिले में चुनाव की तैयारी पूरी कर ली गयी है. सभी विधानसभा क्षेत्रों के आरओ द्वारा नामांकन पत्र जमा करने से संबंधित तैयारी भी पूरा कर लिया है. इस बार चुनाव में एम-3 मॉडल का इवीएम मशीन का उपयोग होगा. डीएम ने बताया कि सभी मतदान केंद्रों पर पेयजल, शौचालय, लाइट की व्यवस्था रहेगी. वहीं कोरोना को देखते हुए सभी मतदान केंद्रों पर थर्मल स्कैनर, सैनिटाइजर, हैंड ग्लब्स, मास्क आदि उपलब्धता भी रहेगी. आदर्श आचार संहिता को सख्ती से लागू कराने के लिए एनसीसी कोषांग पूर्व से ही गठित है जो अपना काम कर रही है. प्रेसवार्ता में एसपी मीनू कुमारी, डीडीसी मुकुल कुमार गुप्ता, एडीएम अरविंद मंडल, एसडीओ निखिल धनराज निप्पणीकर, एलआरडीसी मो सिबगुतुल्लाह, सहायक निर्वाचन पदाधिकारी आदि शामिल थे.जहानाबाद में 7 लाख 93 हजार 57 मतदाता 1180 बूथ मतदान केंद्र पर डालेंगे वोट

जहानाबाद जिले में तीन विधानसभा क्षेत्र है. जहानाबाद, घोसी तथा मखदुमपुर विधानसभा में 7 लाख 93 हजार 57 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे. इनमें 4 लाख 14 हजार 640 पुरूष मतदाता, 3 लाख 79 हजार 393 महिला मतदाता तथा 24 थर्ड जेंडर शामिल हैं. कोरोना को देखते हुए इस बार 1000 मतदाताओं पर मतदान केंद्र बनाया गया है. ऐसे में जिले में 1180 मतदान केंद्रों पर मतदाता वोट डालेंगे. जहानाबाद विधानसभा के लिए 2 लाख 94 हजार 358 मतदाता 436 बूथों पर अपना वोट डालेंगे. जबकि घोसी विधानसभा के लिए 2 लाख 58 हजार 776 मतदाता 383 बूथों पर वोट डालेंगे. जबकि मखदुमपुर विधानसभा के लिए 2 लाख 39 हजार 923 मतदाता 361 बूथों पर अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे.

दिव्यांग एवं वृद्ध मतदाताओं के लिए रहेगी विशेष व्यवस्था

विधानसभा चुनाव में दिव्यांग एवं वृद्ध मतदाताओं के लिए विशेष व्यवस्था रहेगा. मतदान केंद्र पर इनके लिए अलग से दो कर्मी रहेंगे जो इन्हें मतदान कराने में सहयोग प्रदान करेंगे. मतदान केंद्रों पर व्हील चेयर की भी व्यवस्था होगी ताकि कोई भी दिव्यांग मतदाता आसानी से अपना वोट डाल सकें. वैसे भवन जिसमें तीन से अधिक मतदान केंद्र बने हैं वहां मतदाताओं के बैठने की भी व्यवस्था रहेगी. इसके लिए टेंट लगाये जाएंगे. मतदाताओं को ग्लब्स उपलब्ध कराया जाएगा. वहीं बिना मास्क वाले मतदाताओं को मास्क भी दिया जाएगा. 80 वर्ष से अधिक उम्र के मतदाताओं के लिए पोस्टल बैलेट पेपर की व्यवस्था रहेगी. इसके लिए उन्हें आवेदन करना होगा कि अपने घर से पोस्टल बैलेट पेपर के माध्यम से मताधिकार का प्रयोग करना चाहते हैं.

5000 से अधिक लोगों पर हुई 107 की कार्रवाई

प्रेसवार्ता में एसपी मीनू कुमारी ने बताया कि स्वच्छ, सुरक्षित एवं भयमुक्त वातावरण में मतदान संपन्न हो, इसके लिए पुलिस प्रशासन द्वारा कार्रवाई किया जा रहा है. अब तक 5000 से अधिक लोगों पर 107 की कार्रवाई हो चुकी है. वहीं 131 लोगों पर सीसीए का प्रस्ताव भेजा गया है. जिले में शांतिपूर्ण एवं निष्पक्ष तरीके से चुनाव संपन्न कराने के लिए सभी आवश्यक कदम उठाये जा रहे हैं. 85 कंपनी पारा मिलिट्री फोर्स की मांग की गयी है. प्रत्येक मतदान केंद्र पर पारा मिलिट्री फोर्स रहेगा. चुनाव प्रभावित करने वाले लोगों पर भी सख्त कार्रवाई की जाएगी. 117 सेक्टर पदाधिकारी लगातार क्षेत्रों में भ्रमण कर ऐसे लोगों को चिह्नित कर रहे हैं.

एसएस कालेज में बनेगा बज्रगृह, होगी मतगणना

जिला निर्वाचन पदाधिकारी ने बताया कि एसएस कालेज में बज्र गृह बनाया जाएगा. सभी विधानसभा क्षेत्रों का इवीएम वहीं सुरक्षित रखा जाएगा. एसएस कालेज में ही मतगणना होगी. इसके लिए सभी आवश्यक तैयारी पूरी कर ली गयी है. इस बार के चुनाव में जिले में करीब 13 हजार वापसी श्रमिक हैं जिनमें सभी योग्य करीब 1304 प्रवासी श्रमिकों का नाम वोटर लिस्ट में जोड़ा गया है.

2015 में किसने-किसको किया पराजित

2015 के विधानसभा चुनाव में जिले के तीनों विधानसभा सीटों पर महागठबंधन का कब्जा हुआ था. जहानाबाद विधानसभा क्षेत्र से महागठबंधन के प्रत्याशी मुंद्रिका सिंह यादव ने रालोसपा प्रत्याशी प्रवीन कुमार को 30 हजार 311 मतों से पराजित किया था. मुंद्रिका सिंह यादव को 76458 मत मिले थे. जबकि प्रवीन कुमार को 46147 वोट प्राप्त हुआ था. हालांकि मुंद्रिका सिंह यादव के निधन के बाद 2018 में उपचुनाव हुआ जिसमें महागठबंधन के प्रत्याशी सुदय यादव ने अभिराम शर्मा ने 35343 वोटों से पराजित किया था. सुदय यादव को 76577 वोट मिले थे. जबकि अभिराम शर्मा को 41206 वोट प्राप्त हुआ था. घोसी विधानसभा से महागठबंधन के प्रत्याशी कृष्णनंदन प्रसाद वर्मा ने राहुल कुमार को 21625 मतों से पराजित किया था. कृष्णनंदन प्रसाद वर्मा को 67248 वोट मिले थे. जबकि राहुल कुमार को 45623 वोट मिला था. मखदुमपुर विधानसभा क्षेत्र से महागठबंधन के प्रत्याशी सूबेदार दास ने पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी को 26477 मतों से पराजित किया था. सूबेदार दास को 66631 वोट मिला था. जबकि जीतन राम मांझी को 39854 वोट प्राप्त हुआ था. हालांकि 2020 के विधानसभा चुनाव में परिस्थितियां बदली हैं. गठबंधन भी बदला है. ऐसे में चुनाव परिणाम में भी बदलाव होने की संभावना दिखती है.