उदेरा स्थान विवाद: जदयू जिलाध्यक्ष का बयान हताशापूर्ण – हम के प्रखंड अध्यक्ष प्रो0 अनील

0
2651

जहानाबाद : उदेरा स्थान बराज के उद्घाटन से जहानाबाद की राजनीति में भूचाल सा आ गया है , 29 जून को बराज के उद्घाटन बिहार के मुख्यमंत्री नितीश कुमार के द्वारा किये जाने के बाद जहानाबाद के पूर्व सांसद एवं इसी जिले के घोषी विधानसभा क्षेत्र से लगातार 35 वर्षों तक विधायक रहे डॉ0 जगदीश शर्मा द्वारा लगाये गये आरोप के बाद सोमवार को जदयू के जिलाध्यक्ष राजू सिंह ने इस मामले में एक प्रेस विज्ञप्ति जारी करते हुए कहा था की डॉ0 जगदीश शर्मा द्वारा बराज उद्घाटन पर प्रश्न उठाना एवं बराज निर्माण का श्रेय लेना उनकी ब्याकुलता, हताशा एवं निराशा का प्रतिक है।

जदयू जिलाध्यक्ष ने कहा की सरकारी कार्यक्रम में घोटाले में सजायफ्त्ता व्यक्ति को बुलाने का न तो नियम है, और ना हीं परम्परा? उदेरा स्थान बराज निर्माण मुख्यमंत्री नतीश कुमार का ड्रीम प्रोजेक्ट था। जिसका श्रेय सिर्फ मुख्यमंत्री को जाता हैं । जदयू जिलाध्यक्ष ने पूर्व सांसद के उस आरोप को भी खारिज किया की बराज का निर्माण अधुरा है, शायद पूर्व सांसद क्षेत्र का भ्रमण नहीं कर रहे है अन्यथा ऐसी बाते नहीं करते। जिलाध्यक्ष के अनुसार बराज से मखदुमपुर, हुलासगंज, खिजर सराय, नालन्दा के सैकड़ों गॉव में नहर का पानी जा रहा है, एवं धान रोपनी का कार्य चल रहा है। जिलाध्यक्ष ने कहा की पूर्व सांसद डॉ0 जगदीश शर्मा अपनी राजनीतिक कुंठा में ‘‘ माल महाराज के मिर्जा खेले होली‘‘ की कहावत को चरितार्थ कर रहे है।
जिलाध्यक्ष ने पूर्व सांसद पर आरोप लगाया की जिस घोषी की जनता ने 32 सालों तक उन्हें जन प्रतिनिधि बनाया उनका भयादोहन करने में कोई कोताही नहीं की। समाज के उभरते नेतृत्व को झुठे मुकदमों में फसाकर उसका राजनीतिक इस्तेमाल किया। अब जब कि समाज में सौहार्द का वातावरण बन रहा है तो इनकी बेचैनी बढ़ गयी है।
जिलाध्यक्ष ने कहा की घोषी में मुख्यमंत्री के नेतृत्व में न्याय के साथ विकास हो रहा है। अब घोषी को किसी व्यक्ति विशेष के लूट का चारागाह नहीं बनने दिया जायगा। पूर्व सांसद का वश चले तो जिले में चल रही सभी विकास योजनाओं का श्रेय ले लें। जिलाध्यक्ष ने कहा की पूर्व सांसद की ब्याकुलता इस कहावत को चरितार्थ करता है की ‘‘बैल न कुदे कुदे तांगा‘‘। गौरतलब है कि जद यु जिला अध्यक्ष राजू सिंह उर्फ राजीव नयन बालू माफिया के रूप में घोसी एवं जहानाबाद के क्षेत्रों में फेमस है , ग्रामीणों का आरोप है कि इन्होने फल्गु नदी में बालू का अवैध उत्खनन करके क्षेत्र के सिचाई व्यवस्था एवं पानी के लेयर को वर्वाद करने का काम किया है !

वहीं जदयू जिलाध्यक्ष के द्वारा लगाए गए आरोपों पर पलटवार करते हुए हम पार्टी के हुलासंगज प्रखंड अध्यक्ष प्रो0 अनील कुमार ने कहा की डॉ0 जगदीश शर्मा पहले भी अजेय थे और आज भी अजेय है, चुनाव राहुल कुमार हारे थे न की डॉ0 जगदीश शर्मा। प्रो0 कुमार ने कहा की जदयू जिलाध्यक्ष का बयान उनके राजनीतिक दिवालियापन क़ो दर्शाता है। जद(यू) का जनाधार तो इसी से साफ होता है कि कभी जद(यु) में जगदीश कुशवाहा तथा चन्द्रेश्वर विन्द सलीके नेता जिलाध्यक्ष हुआ करते थे, और आज इस पद पर राजीव नयन उर्फ राजू हैं। यह साबित करता है कि जदयू के पास कार्यकर्त्ताओं की कमी हो गई है। प्रो0 अनील कुमार ने दावा किया की धनरोपनी का कार्य पूर्वी नहर से मिलने वाले पानी से उस ईलाके में हुआ है न की, पश्चिमी ईलाके हवल्लीपुर, नतौल एवं धराउत के नहरों में,सच्चाई ये है कि इधर के सैकड़ों गॉव के किसान अपने किस्मत का रोना रो रहे है। इससे अच्छा तो उदेरा स्थान में बीयर था?
जब पुरब और पश्चिम ईलाकों में समान रूप से पानी मिलता था। उन्होंने कहा की अगले आने वाले गर्मी में फल्गु तट के बगल के लोगो को भारी पेयजल का संकट का सामना करना पड़ेगा कारण साफ है कि फल्गु नदी से राजू सिंह उर्फ राजीव नयन के लोगो के द्वारा सभी बालु का पूर्ण रूप से निकासी कर दी गई है।
अब फल्गु नदी में सिर्फ मिट्टी बचा है , जिससे इधर के किसानों में कृषि संकट व्याप्त हो गया है ?

दरअसल पूर्व सांसद डॉ0 जगदीश शर्मा ने बीते दिन पत्रकार सम्मेलन कर इस सवाल को उजागर किया था की प्रकाश उत्सव में जब लालु प्रसाद यादव को अन्तराष्ट्रीय समारोह में आमंत्रित किया जा सकता है ,तो जिला स्तरीय उद्घाटन में इस तरह की बात ओछी मानसिकता का परिचायक है?