जानिये चेहरे- शरीर के तिल और इनका महत्व के बारे में….

0
673

अक्सर हम अपने शरीर के अलग अलग अंगों पर काला या लाल सा निशान या बिंदु देखते हैं जिसे हम तिल कहते हैं. आज हम आपको बताएँगे , जीवन में क्या है तिलों का महत्व और शरीर के अंगो पर पाए जाने वाले तिल को लेकर मान्यतायें क्या कहती हैं

कुछ लोग तिल को शुभ मानते हैं तो कुछ लोग तिल में अपना चमकता हुआ भाग्य तलाशते हैं. लेकिन सच्चाई तो ये है कि हर तिल कुछ कहता है. आमतौर पर तो तिल काले ही होते हैं लेकिन कुछ लोगों में तिल के निशान लाल भी होते हैं.

आइए जानते हैं , तिलों से जुड़ी कुछ खास बातें और इनके बारे में सच्चाई…

शरीर पर तिलों का रहस्य
– चेहरे पर तिल के अलग-अलग अर्थ होते हैं.
– चेहरे के तिल का सीधा संबंध आपके भाग्य से होता है.
– गालों पर तिल का होना आपकी आकर्षण क्षमता को मजबूत करता है.
– चेहरे पर मौजूद तिल धन लाभ कराता है.
– नाक पर तिल का होना व्यक्ति को बहुत ज्यादा अनुशासित बना देता है, ऐसे लोगों के जीवन में संघर्ष बढ जाता है.
– नाक के नीचे तिल का होना बताता है कि व्यक्ति के ढेर सारे चाहने वाले हैं. लेकिन ऐसे लोग कम लोगों से ही लगाव रखते हैं.
– माथे पर तिल बताता है कि आप शुरुआत में खूब संघर्ष करेंगे.
– माथे पर तिल संघर्ष के बाद धनवान बनाता है.
– होंठों पर तिल होना बताता है कि आप बहुत ज्यादा प्रेमी स्वभाव के हैं, ऐसे लोगों को रोज प्रेम होता रहता है.

शरीर के दूसरे हिस्से पर तिल का अर्थ
पैरों के तलवे का तिल हमेशा व्यक्ति को घर से दूर ले जाता है और बड़ी सफलता देता है.
– सीने पर तिल का होना ये बताता है कि व्यक्ति को पारिवारिक बाधाओं का सामना करना पड़ेगा.
– पेट पर तिल व्यक्ति को धन तो देता है पर स्वास्थ्य ख़राब करता है.
– तिल पर बाल हो तो वो शुभ नहीं माना जाता.
– तिल यदि बड़ा हो, तो शुभ होने के साथ शगुन बढ़ाता है.
– हाथ के अगर बीचो-बीच तिल हो जो किसी पर्वत पर ना हो तो ये सम्पन्नता देता है.
– अगर ये तिल पर्वत पर या अंगुलियों पर हो तो दुर्भाग्य का कारण बनता है.
– तिल गहरे रंग का हो, तो माना जाता है कि बड़ी बाधाएं सामने आएंगी.
– हल्के रंग का तिल सकारात्मक विशेषता का सूचक माना जाता है.

लाल तिल और इसका अर्थ
काले तिलों के अलावा शरीर पर लाल तिल भी होते हैं. ज्योतिष के जानकारों की मानें तो लाल तिलों का अपना अलग महत्व है और ये अपनी मौजूदगी के हिसाब से ही प्रभाव देते हैं.

आइए आपको लाल तिल से होने वाले प्रभाव के बारे में बता देते हैं…
– लाल तिल सम्पन्नता और दुर्भाग्य दोनों का प्रतीक होता है.
– अगर ये चेहरे पर हो तो वैवाहिक जीवन और पारिवारिक जीवन में दुर्भाग्य लाता है.
– अगर ये बाहों पर हो तो आर्थिक मजबूती लाता है.
– अगर ये सीने पर हो तो व्यक्ति विदेश जाता है.
– सीने पर लाल तिल होने से व्यक्ति खूब धन कमाता है.
– अगर लाल तिल पीठ पर हो तो सेना या साहस के क्षेत्र में सफलता मिलती है.

तिल बताएगा आपसे जुड़ी हर बात
ज्योतिष के मुताबिक किसी भी व्यक्ति के शरीर पर 12 से ज्यादा तिल होना अच्छा नहीं माना जाता है. 12 से कम तिलों का होना शुभ फलदायक है लेकिन शरीर के हर हिस्से पर मौजूद तिल का महत्व अलग होता है. शरीर पर पाए जाने वाले मस्सों का भी तिल के समान ही फल होता है. पुरुषों के शरीर पर दाहिनी ओर तिल होना शुभ और लाभकारी माना गया है. जबकि महिलाओं के बायीं तरफ वाले तिल शुभ और लाभकारी माने जाते हैं. अगर किसी महिला के सीने पर तिल हो तो वो सौभाग्यवती होती है. इसी तरह इंसान के अलग-अलग अंगो पर मौजूद तिल कुछ ना कुछ कहता है.

हर एक तिल कुछ कहता है
– आंख की पलकों पर तिल हो तो जातक संवेदनशील होता है.
– दायीं पलक पर तिल वाले बायीं वालों की अपेक्षा अधिक संवेदनशील होते हैं.
– दायीं आंख पर तिल स्त्री से मेल होने का संकेत है.
– बायीं आंख पर तिल स्त्री से अनबन होने का आभास देता है.
– कान पर तिल व्यक्ति के अल्पायु होने का संकेत देता है.
– नाक पर तिल हो तो व्यक्ति प्रतिभा संपन्न और सुखी होता है.
– महिलाओं की नाक पर तिल उनके सौभाग्यशाली होने का सूचक है.
– होंठ पर तिल वाले व्यक्ति बहुत प्रेमी हृदय होते हैं.
– यदि तिल होंठ के नीचे हो तो गरीबी छाई रहती है.
– माथे के मध्य भाग में तिल निर्मल प्रेम की निशानी है.
– माथे के दाहिने तरफ का तिल किसी विषय विशेष में निपुणता का प्रतीक है.
– माथे के बायीं तरफ का तिल फिजूलखर्ची का प्रतीक होता है.
– दोनों भौंहो पर तिल हो तो जातक अक्सर यात्रा करता रहता है.
– दाहिनी भौंह पर तिल सुखमय और बायीं पर तिल दुखमय दांपत्य जीवन का संकेत देता है.
– आंख की दायीं पुतली पर तिल हो तो व्यक्ति के विचार उच्च होते हैं.
– आंख की बायीं पुतली पर तिल हो तो विचार ठीक नहीं होते हैं.
– आंख की पुतली पर तिल वाले लोग भावुक होते हैं.
शरीर पर तिल का महत्व
शरीर पर तिल के निशान को लेकर अनेक प्रकार की धारणाएं हैं. ये भी कहा जाता है कि शरीर के जिस हिस्से पर तिल होता है, वहां व्यक्ति को पूर्व जन्म में कोई चोट लगी होती है. इस तरह की कई बातें तिल के बारे में प्रचलित हैं. आइए जानें, शरीर के और हिस्सों पर मौजूद तिल के बारे में…
– जिसके हाथों पर तिल होते हैं वो चालाक होता है.
– दायीं हथेली पर तिल हो तो बलवान और दायीं हथेली के पृष्ठ भाग में हो तो धनवान होता है.
– बायीं हथेली पर तिल हो तो जातक खर्चीला और बायीं हथेली के पृष्ठ भाग पर तिल हो तो कंजूस होता है.
– अंगूठे पर तिल हो तो व्यक्ति कार्यकुशल, व्यवहार कुशल और न्यायप्रिय होता है.
– गले पर तिल वाला जातक आरामतलब होता है.
– मुखमंडल के आसपास का तिल स्त्री और पुरुष दोनों के सुखी संपन्न और सज्जन होने के सूचक होते हैं.
– मुंह पर तिल व्यक्ति को भाग्य का धनी बनाता है.
– दाएं कंधे पर तिल का होना दृढ़ता का सूचक है.
– बाएं कंधे पर तिल का होना तुनकमिजाजी का सूचक होता है.
– दाहिनी भुजा पर तिल वाले जातक प्रतिष्ठित और बुद्धिमान होते हैं.
– बायीं भुजा पर तिल हो तो व्यक्ति झगड़ालू होता है.
शरीर पर तिल का महत्व
ज्योतिष के जानकारों की मानें तो शरीर पर पाए जाने वाले इन निशानों से भविष्य का विश्लेषण किया जाता है. शरीर के किसी भी अंग पर तिल होना एक अलग संकेत देता है.
– जबड़े पर तिल हो तो स्वास्थ्य की अनुकूलता और प्रतिकूलता निरंतर बनी रहती है.
– दाएं कंधे पर तिल का होना दृढ़ता सूचक है.
– होंठ पर तिल वाले व्यक्ति बहुत प्रेमी हृदय होते हैं.
– दाहिनी भुजा पर तिल आदर सम्मान दिलाता हैं.
– बायीं भुजा पर तिल हो तो व्यक्ति झगड़ालू होता है.
– ऐसे व्यक्ति का सर्वत्र निरादर होता है.
– नाक पर तिल हो तो व्यक्ति प्रतिभासंपन्न और सुखी होता है.
– महिलाओं की नाक पर तिल उनके सौभाग्यशाली होने का सूचक है.
– कोहनी पर तिल का पाया जाना विद्वता का सूचक है.
– माथे पर तिल होने से व्यक्ति बलवान होता है.
– दाहिनी आंख पर तिल से स्त्री से प्रेम बढ़ता है.
– गाल पर लाल तिल शुभ फल देता है.
– बाएं गाल पर कृष्ण वर्ण तिल व्यक्ति को निर्धन बनाता है.
– दाएं गाल पर धनी बनाता है.

उंगली पर तिल का महत्व
जिसकी तर्जनी पर तिल हो, वो विद्यावान, गुणवान और धनवान किंतु शत्रुओं से पीड़ित होता है.
– मध्यमा पर तिल उत्तम फलदायी होता है.
– ऐसे लोग सुखी रहते हैं और उनका जीवन शांतिपूर्ण होता है.
– अंगूठे पर तिल हो तो व्यक्ति कार्यकुशल, व्यवहार कुशल और न्यायप्रिय होता है.
– जिसकी अनामिका पर तिल हो तो वो ज्ञानी, यशस्वी, धनी और पराक्रमी होता है.
– कनिष्ठा पर तिल हो तो व्यक्ति संपत्तिवान होता है, किंतु उसका जीवन दुखमय होता है.